Congress Mla Said, Cm Must Be Sachin Pilot Not Ashok Gehlot – मुख्यमंत्री गहलोत के खिलाफ बोले कांग्रेस विधायक, ‘पायलट को बनना चाहिए सीएम’

0
26
Congress Mla Said, Cm Must Be Sachin Pilot Not Ashok Gehlot - मुख्यमंत्री गहलोत के खिलाफ बोले कांग्रेस विधायक, 'पायलट को बनना चाहिए सीएम'


न्यूज डेस्क, अमर उजाला, जयपुर
Updated Wed, 05 Jun 2019 07:02 PM IST

पृथ्वीराज मीणा, कांग्रेस विधायक
– फोटो : सोशल मीडिया

ख़बर सुनें

राजस्थान में सत्तारूढ़ कांग्रेस के एक विधायक ने बुधवार को कहा कि लोकसभा चुनाव में पार्टी की करारी हार की जिम्मेदारी मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को लेनी चाहिए। इसके साथ ही विधायक पृथ्वीराज मीणा ने उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट को मुख्यमंत्री बनाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि सचिन पायलट को मुख्यमंत्री बनाना चाहिए, उनकी वजह से बहुमत आएगा। क्योंकि सीएम अशोक गहलोत का प्रभाव खत्म हो चुका है। जाट, गुर्जर नराज है, ऐसे में उन्हें वोट कौन देगा? 

बता दें कि लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को राज्य में सभी 25 सीटों पर हार का मुंह देखना पड़ा और उसके बाद से पार्टी में खेमेबाजी और खींचतान चल रही है। टोडाभीम सीट से कांग्रेस विधायक मीणा ने यहां पार्टी के प्रदेश मुख्यालय में संवाददाताओं से कहा, ‘जब पार्टी सत्ता में होती है तो हार की जिम्मेदारी मुख्यमंत्री की होती है और अगर पार्टी विपक्ष में होती है तो यह जिम्मेदारी पार्टी अध्यक्ष की रहती है।’ 

उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री गहलोत ने हाल ही में एक टीवी चैनल को साक्षात्कार में कहा कि प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट को कम से कम जोधपुर सीट पर पार्टी की हार की जिम्मेदारी तो लेनी ही चाहिए क्योंकि वह वहां शानदार जीत का दावा कर रहे थे। इसके बाद गहलोत व पायलट के समर्थन में अलग अलग बयान आ रहे हैं।

राजस्थान में सत्तारूढ़ कांग्रेस के एक विधायक ने बुधवार को कहा कि लोकसभा चुनाव में पार्टी की करारी हार की जिम्मेदारी मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को लेनी चाहिए। इसके साथ ही विधायक पृथ्वीराज मीणा ने उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट को मुख्यमंत्री बनाने की मांग की है। उन्होंने कहा कि सचिन पायलट को मुख्यमंत्री बनाना चाहिए, उनकी वजह से बहुमत आएगा। क्योंकि सीएम अशोक गहलोत का प्रभाव खत्म हो चुका है। जाट, गुर्जर नराज है, ऐसे में उन्हें वोट कौन देगा? 

बता दें कि लोकसभा चुनाव में कांग्रेस को राज्य में सभी 25 सीटों पर हार का मुंह देखना पड़ा और उसके बाद से पार्टी में खेमेबाजी और खींचतान चल रही है। टोडाभीम सीट से कांग्रेस विधायक मीणा ने यहां पार्टी के प्रदेश मुख्यालय में संवाददाताओं से कहा, ‘जब पार्टी सत्ता में होती है तो हार की जिम्मेदारी मुख्यमंत्री की होती है और अगर पार्टी विपक्ष में होती है तो यह जिम्मेदारी पार्टी अध्यक्ष की रहती है।’ 

उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री गहलोत ने हाल ही में एक टीवी चैनल को साक्षात्कार में कहा कि प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट को कम से कम जोधपुर सीट पर पार्टी की हार की जिम्मेदारी तो लेनी ही चाहिए क्योंकि वह वहां शानदार जीत का दावा कर रहे थे। इसके बाद गहलोत व पायलट के समर्थन में अलग अलग बयान आ रहे हैं।





Source link

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here